गेहूं का आटा आमतौर पर इसकी शक्ति के कारण दैनिक रूप से उपयोग किया जाता है।  गेहूँ का आटा शुद्ध सफेद होता है क्योंकि यह गेहूँ की चिकनी बनावट से बनता है, जबकि चावल का आटा भूरे चावल या बारीक पिसे सफेद चावल से बनाया जाता है।  चूंकि दोनों मैदे अलग-अलग सामग्री से बने होते हैं, इसलिए प्रत्येक आटे की पोषण सामग्री भी अलग-अलग होती है।  दोनों आटे में कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, प्रोटीन और खनिज अलग-अलग मात्रा में होते हैं।  चावल के आटे और गेहूं के आटे के बीच सबसे महत्वपूर्ण अंतर कैलोरी में होता है।  दोनों प्रकार के आटे में कैलोरी अधिक होती है, हालांकि, चावल के आटे में साधारण गेहूं के आटे की तुलना में अधिक कैलोरी होती है।  यह अनुमान है कि एक कप चावल के आटे में कम से कम 578 कैलोरी होती है जबकि एक कप गेहूं के आटे में 400 कैलोरी होती है।  गेहूं के आटे में चावल के आटे की तुलना में अधिक फाइबर की मात्रा होती है। एक कप आटे में 12 ग्राम फाइबर होता है जबकि चावल के आटे में केवल 4 ग्राम फाइबर होता है।  गेहूं के आटे में चावल के आटे की तुलना में अधिक विटामिन और खनिज होते हैं जब यह विटामिन और खनिज की बात आती है।

गेहूं का आटा आमतौर पर इसकी शक्ति के कारण दैनिक रूप से उपयोग किया जाता है।

गेहूँ का आटा शुद्ध सफेद होता है क्योंकि यह गेहूँ की चिकनी बनावट से बनता है, जबकि चावल का आटा भूरे चावल या बारीक पिसे सफेद चावल से बनाया जाता है।

चूंकि दोनों मैदे अलग-अलग सामग्री से बने होते हैं, इसलिए प्रत्येक आटे की पोषण सामग्री भी अलग-अलग होती है।

दोनों आटे में कैलोरी, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, प्रोटीन और खनिज अलग-अलग मात्रा में होते हैं।

चावल के आटे और गेहूं के आटे के बीच सबसे महत्वपूर्ण अंतर कैलोरी में होता है।

दोनों प्रकार के आटे में कैलोरी अधिक होती है, हालांकि, चावल के आटे में साधारण गेहूं के आटे की तुलना में अधिक कैलोरी होती है।

यह अनुमान है कि एक कप चावल के आटे में कम से कम 578 कैलोरी होती है जबकि एक कप गेहूं के आटे में 400 कैलोरी होती है।

गेहूं के आटे में चावल के आटे की तुलना में अधिक फाइबर की मात्रा होती है। एक कप आटे में 12 ग्राम फाइबर होता है जबकि चावल के आटे में केवल 4 ग्राम फाइबर होता है।

गेहूं के आटे में चावल के आटे की तुलना में अधिक विटामिन और खनिज होते हैं जब यह विटामिन और खनिज की बात आती है।

1 टिप्पणियाँ