क्या कोरोना वायरस फैलने की पीछे नॉनवेज जिम्मेदार है ,यहां जाने क्या कहते है इसके बारे में एक्सपर्ट्स. 
kya korona vaayaras phailane kee peechhe nonavej jimmedaar hai ,yahaan jaane kya kahate hai isake baare mein eksaparts.

कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया को तहस-नहस कर दिया है सभी लोग घरों में बंद है।



इसकी वजह से कई धारणाएं भी बदली है खाना भी उसी में से एक है इस महामारी ने हमारे खाने पीने आदतो को कभी बदल दिया है अब ज्यादा लोगों ने मांसाहार त्याग दिया है कोरोना वायरस के प्रकोप के तुरंत बाद ही सोशल मीडिया पर एक अफवाह तेजी से फैली लोगों ने कहा कि कोरोनावायरस मांस खाने की वजह से निकला इसलिए मान गया कि क्योंकि लोगों का विश्वास था कि मनुष्य में कोरोनावायरस चमगादड़ो के जरिए ही आया।



हम आपको इसकी सही कारण बताते हैं विशेषज्ञों ने स्पष्ट किया है कि मांस सुरक्षित है जब तक कि अच्छी तरह से साफ हो ठीक से पकाया नहीं जाता लेकिन अब प्लांट बेस्ड प्रोटीन की मांग बढ़ रही है और अनुमान लगाया जा सकता है कि ऐसा क्यों है मांस से जुड़े भरम की वजह से ही इसकी मांग बढ़ रही है

मीट का विकल्प बनाने वाली कंपनियों ने अपनी कम्पनियो ने 70 फीसदी बढ़ोतरी दर्ज की है डेविड योंग का ग्रीन मॉन्डी समूह इन्ही में से एक है उनका कहना है कि कोरोनावायरस पहला नहीं है और दुख की बात है कि आखरी भी नहीं होगा जब तक कि हम खाने-पीने की आदतों को बदल नहीं लेते।

एक और ट्रेंड है स्वस्थ भोजन पर ज़ोर देना कोरोना वायरस ने लाखों लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक किया है लोगों की खरीददारी कीआदते भी देखें तो पता चलता है कि लोग सब्जियां और फल ज्यादा ले रहे हैं रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले भोजन में भी लोगों की रुचि बढ़ रही है और आखिर में इस महामारी ने हम अपना खाना खुद बना रहे हैं।


ज्यादातर लोग न केवल स्वस्थ भोजन कर रहे हैं बल्कि घर पर ही खा रहे हैंविशेषज्ञों का कहना है कि यह ट्रेंड अब बना रहेगा हालांकि यह खबर रेस्त्रा उद्योग के लिए अच्छी नहीं है खाद्य उद्योग की दुनिया में ऐसा पहले कभी नहीं हुआ आपूर्ति बढ़ा दी गई हर जगह लॉक डाउन है और पता ही नहीं है वह कब खत्म होगा।

0 टिप्पणियां