रसभरी

रसभरी दो रंग में मिलता है, एक काले रंग का और दूसरा पीले रंग का, काले रंग का छोटा होता है, लेकिन इसके ऊपर कोई छिलका नहीं होता, लेकिन जो पीले रंग का होता है उसके ऊपर छिलका होता है, यह दोनों ही औषधीय गुणों से भरे हैं, रसभरी खाना सेहत के लिए बहुत अच्छा माना जाता है। इसे अलग-अलग देशो मे अलग-अलग नामो से जाना जाता है। आइए हम आपको बताते हैं क्या है इसे खाने के फायदे।


1. रसभरी में पाए जाने वाली उच्च कैरोटीनॉइड सामग्री के कारण, यह आपके आंखों के स्वास्थ्य को बढ़ाने के लिए अक्सर इसका सेवन करने की सलाह दी जाती है। कैरोटीनॉयड विशेष रूप से ऑकुलर सिस्टम पर ऑक्सीडेटिव तनाव को खत्म करते हैं, मोतियाबिंद के विकास को रोकते हैं और मैक्यूलर डिएनेजरेशन की शुरुआत धीमा करते हैं।

2. अगर आपको शुगर की समस्या है तो दो कप पानी में थोड़ी सी रसभरी को डालकर तब तक उबालें जब तक पानी आधा ना हो जाए। रोजाना सुबह इस पानी का सेवन करने से आपकी शुगर की समस्या ठीक हो जाएगी।

3.रसभरी मैं फाइबर की उच्च मात्रा होने के कारण रसभरी हमारे समग्र स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदेमंद होती है। पर्याप्‍त मात्रा में इसका सेवन करने पर यह दिल को स्‍वास्‍थ्‍य बनाए रखने में मदद करती है। फाइबर के अलावा दिल को स्‍वस्‍थ्‍य रखने के लिए इसमें एंथोकाइनिन भी होता है। एंथेकाइनिन रक्‍तवाहिकाओं और प्लेटलेट्स पर सकारात्मक प्रभाव डालते हैं।

4. रसभरी डायबिटीज से जूझ रहे लोगों के लिए भी फायदेमंद होता है। इसके लिए रसभरी को 2 कप पानी में तब तक उबालें तब तक वो एक कप न बचे। रोज सुबह इसे पीने से डायबिटीज से निजात पाई जा सकती है।

5. इस सुपर बेरीज में कैलोरी का स्तर बहुत ही कम होता है और इसमें अधिकांश विटामिन और खनिज पाया जाता है। इस फल में अधिक मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट पाया जाता है। पॉलीफेनोल और कैरोटीनोइड्स मानव स्वास्थ्य के जरूरी पोषक तत्व है। रसभरी में ये काफी मात्रा में पाया जाता है। इसमें विटामिन सी की मात्रा, नींबू से भी अधिक पाई जाती है। विटामिन सी त्वचा के लिए ही नहीं रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में भी मदद करता है।

6.रसभरी खाने से बुढ़ापे तक हड्डियां रहती हैं मजबूत, गठिया- मांसपेशियों का दर्द भी होता है दूर



0 टिप्पणियां